Ram Setu - Movie Review
in

Ram Setu – Movie Review
0 (0)



Ram Setu – Movie Review
Ram Setu Movie Review in Hindi by Pratik Borade
Ram Setu 2022 Bollywood Film Review

Ramsetu Movie Review
Akshay Kumar’s Ram Setu Review
#RamSetu
#RamSetuReview

Support our Channel –
Patreon –

Join this channel to get access to perks:

Email id – [email protected]

Video pasand aaye to Like aur Share jarur kare.

Aap sabke Prem aur Support ke liye Dil se Dhanyawad 🙏

Follow me on –
Instagram –
Facebook –
Koo –
Twitter –

DISCLAIMER: The views presented in the video are personal. I neither intend to blame anyone nor does anyone need to agree with this. Video doesn’t intend to hurt anyone’s religious or other sentiments. Use your intelligence while watching the video.

Thank you so much for watching!
Don’t forget to Subscribe !

Ram Setu Movie Review,Ram Setu Review,Ram Setu Film Review,Ramsetu Review,Ram Setu,Ramsetu,Akshay Kumar,Movie Review,Pratik Borade,Review

Video Source & Full Credit

Our Score

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

27 Comments

  1. भाई क्यूं झूठ बोल रहे हो? फिल्म सिर्फ हमारे भगवान श्रीरामजी के नामपर बनाई है इसलिये कुछ भी तारीफ कर रहे हो? इतनी बकवास फिल्म है और इतनी वाह्यात फिल्म है के बता नही सकता.जब मैने देखी तब सिर्फ ९ लोग थे थिएटर मे और सब गालियां दे रहे थे बेवकूफ बनाने पर.
    एपी का कॕरॕक्टर कौन है ये पाँच मिनिट मे ही पता चल जाता है. कोई सस्पेंस नही है. कहानी मे कहां तालिबान कहां अक्षय कुमार कहां ASI कहां वो रामसेतू तोडने वाला नासीर कॉंट्रॕक्टर कहां लंका पहुंचना और कहां सिर्फ एक डुबकी के लिये बुढे अक्षय कुमार को बुलाना और आखीर मे सस्पेंडेड अक्षयकुमार के दस मिनिट के प्रवचन से कोर्ट का झट से फैसला देना. पुरी कार्तिकेय २ की कॉपी की गयी है. '
    बहोत सस्ती तरीके से कम बजेट से और घटीया व्हीएफएक्स से जल्दबाजी से ये वाह्यात फिल्म दर्शको को बेवकूफ बनाने के लिये बनायी गयी है. कहानी कहां से कहां भटकती है कहां जाती है इसका पता ना डायरैक्टर को लगता है ना दर्शको को.
    बहोतही बकवास फिल्म है. सिर्फ पैसे ऐठने के लिये अक्षय कुमार धरम राष्ट्र और भगवान का तडका लगाकर ऐसी मॕगी बनाते है और फिल्म चले ना चले ५०-१०० करोड लेकर निकल जाये है.
    ना कोई रिसर्च ना कहानी ना कुछ नयापन. सिर्फ पानी से एक पत्थर निकालकर अक्षय कुमार वो साबित करता है जो कोई नही कर सका. बाकी लोग सायंटिस्ट सब बेवकूफ दिखाये फिल्म मे.
    सिर्फ भावुक होकर झूठी तारीफ और झूठा रिव्ह्यू मत करो भाई. ये फिल्म है कोई सच्चाई नही . तो सच्चे क्रिटि होकर रिव्ह्यू किया करो. रामसेतू सिर्फ तैरने वाले पत्थरो का एक निर्माण नही एक धरोहर है हमारे संस्कृती की और देश की. उसका बनाना एक धरम के उत्थान की निशानी है. इतिहास है और हमारे भगवान का आशीर्वाद है जो भारत से धर्मप्रसार का मार्ग बन गया.
    ऐसा फिल्म मे कुछ भी नही दिखाया. सिर्फ जल्दबाजी मे कुछ भी बनाकर दे दिया.
    जरा पोनियन सिल्वम फिल्म देखो. कार्तिकेय २ देखो. इसे अभ्यास और इतिहास कहते है. ऐसी अक्षय कुमार की मॕगी को नही.

Load more comments